Dard Bhari Shayari Image 04

  • Version
  • Download 20
  • File Size 671.36 KB
  • File Count 1
  • Create Date January 25, 2020
  • Last Updated January 25, 2020

रोने की सज़ा न रुलाने की सज़ा है;
ये दर्द मोहब्बत को निभाने की सज़ा है;
हँसते हैं तो आँखों से निकल आते हैं आँसू;
ये उस शख्स से दिल लगाने की सज़ा है।

Back to top button