Dard Bhari Shayari Image 05

  • Version
  • Download 15
  • File Size 713.93 KB
  • File Count 1
  • Create Date January 25, 2020
  • Last Updated January 25, 2020

हादसे इंसान के संग मसखरी करने लगे;
लफ्ज कागज पर उतर जादूगरी करने लगे;
कामयाबी जिसने पाई उनके घर बस गए;
जिनके दिल टूटे वो आशिक शायरी करने लगे।

Back to top button