Dard Bhari Shayari Image 07

  • Version
  • Download 20
  • File Size 732.97 KB
  • File Count 1
  • Create Date January 25, 2020
  • Last Updated January 25, 2020

लिखूं कुछ आज यह वक़्त का तकाजा है;
मेरे दिल का दर्द अभी ताजा-ताजा है;
गिर पड़ते हैं मेरे आंसू मेरे ही कागज पर;
लगता है कि कलम में स्याही का दर्द ज्यादा है!

Back to top button