Dard Bhari Shayari Image 08

  • Version
  • Download 43
  • File Size 739.16 KB
  • File Count 1
  • Create Date January 25, 2020
  • Last Updated January 25, 2020

वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं;
कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं;
दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद;
वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।

Back to top button