Friendship Shayari

न हमसे दोस्ती में जुदा होने की कोशिश करना,
न हमसे दोस्ती में खफा होने की कोशिश करना,
अगर हो जाये दोस्ती में कोई नादानी,
तो उसे दोस्ती में माफ़ करने की कोशिश करना।

Friendship Shayari

वो दोस्ती ही क्या जिसमे आप जैसा यार न हो,
वो यार ही क्या जिसके लिए हमारे दिल में प्यार न हो,
वैसे तो हम सब कुछ लुटा सकते हैं,
और वो ज़िन्दगी ही क्या जो दोस्त पर जान निसार न हो।

Friendship Shayari

हम बहुत अजीब सा दोस्ताना करते है,
दोस्ती पर सब कुछ वार दिया करते हैं,
रिश्तो को तो हम निभाते ही है,
पर दोस्ती का अंदाज अलग ही रखा करते है।

Friendship Shayari

इश्क ने दोस्ती से एक दिन पूछ ही लिया,
जब मैं हूँ यहाँ तो तेरा क्या काम है,
तो दोस्ती ने कहा जहाँ तू नाकाम है,
वहाँ मेरा ही नाम है।

Friendship Shayari

दोस्ती एक आईने की तरह है,
जो कभी कभी टूट जाती है,
पर जुड़ने पर भी दरार पड़ जाती है।

Friendship Shayari

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15Next page

Related Articles

Back to top button
Close