Good Nigth Shayari

ऐ पलक तू बन्द हो जा,
कम से कम उनकी सूरत तो नजर आयेगी,
दिन तो ऐसे ही निकल जाता है,
कम से कम रात तो सुकून से गुज़र जायेगी।

Good Night Shayari


अब तो न दिन को करार है और न ही रात को चैन है,
अब तो बस उसकी यादों में बहते मेरी आँखों के रैन हैं।

Good Night Shayari


ये दिल दिन में कितने चेहरों के बीच रहता है,
लेकिन रात के ख्वाब में सिर्फ तेरा ही चहरा रहता है।

Good Night Shayari


तेरी यादों में नींद का आना बड़ा मुश्किल हो गया है,
और नींद आ भी जाये तो उस नींद पर भी तेरा पहरा हो गया है।

Good Night Shayari


तू ये मत समझ तुझ से जुदा होकर हम बहुत चैन से सोतें है, रात को तेरी तस्वीर देख कर सारी रात रोते हैं।

Good Night Shayari

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10Next page

Related Articles

Back to top button
Close