Love Shayari

Love Shayari

लो मैंने ये अपना दिल तुम्हारे नाम कर दिया,
अब चाहे इसे अपने दिल से जोड़ लो
या इसे तोड़ दो, तुम्हारी मर्ज़ी।


लो अब मैंने तुम को चुन लिया है
उम्र भर के लिए, मैं कोई बेईमान
नही जो रोज़ रोज़ ईमान बदलूँ।


ये ज़िद्द है मेरी की मैं तुम्हे जीत लूँ,
मगर एक जिद्द ये भी है
की तुझ पर सब कुछ हार जाऊँ।


तेरी हर साँस के साथ चलती है
मेरी ये धड़कन, और तुम पूंछते हो,
की मुझे याद किया या नही।


दिल भी तेरा, हम भी तेरे,
बस एक आस ज़रूरी लगती है,
अब बिन तेरे मेरे दिल
को हर साँस अधूरी लगती है।


Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49Next page

Related Articles

Back to top button
Close