Love Shayari

Love Shayari For BF

कल बड़ा शोर था मयखाने में,
बहस छिड़ी थी की जाम
कोनसा बेहतरीन है,
हमने तेरे होठो का ज़िक्र
किया यो बहस खत्म हुई।


एक बार उसके रोने पर,
उसके होठो को क्या चूम लिया,
अब तो हर बार रोने का बहाना बनाती है।


उनको गुज़रते देखा तो
हमने आँखे बन्द कर लीं,
पायल की झनकार क्या
उठी आँखों ने तो बगाबत कर ली।


तेरी आँखों की कशिश
भी खिंचती है इस कदर,
अब ये दिल बहलता
नही बहकने की ज़िद करता है।


अपने होठो को तुम किसी
पर्दे में छुपा लिया करो,
हम गुस्ताख़ लोग
नज़रो से चूम लिया करते हैं।


Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51Next page
Back to top button
Close