Pyar Bhari Shayari

💖 Pyar Bhari Shayari 💖

चाँद तारे ज़मीन पर लाने की ज़िद थी, हमें उनको अपना बनाने की ज़िद थी, अच्छा हुआ वो पहले ही हो गयी बेवफा, वरना उन्हे पाने को ज़माना जलाने की ज़िद थी।

Pyar Bhari Shayari


 तुम्हारे प्यार की दास्तां हमने अपने दिल में लिखी है, न थोड़ी न बहुत बे-हिसाब लिखी है, किया करो कभी हमे भी अपनी दुआओं में शामिल, हमने अपनी हर एक सांस तुम्हारे नाम लिखी है।

Pyar Bhari Shayari


🌹 Pyar Shayari 🌹

सिलसिला उल्फत का चलता ही रह गया, दिल चाह में दिलबर के मचलता ही रह गया, कुछ देर को जल के शमां खामोश हो गई,
परवाना मगर सदियों तक जलता ही रह गया।

Pyar Bhari Shayari


 एहसास के दामन में आंसू गिराकर देखो,
प्यार कितना है आजमा कर देखो,
तुम्हें भूल कर क्या होगी दिल की हालत,
किसी आईने पे पत्थर गिराकर तो देखो।

Pyar Bhari Shayari


💖 Pyar Bhari Shayari 💖

 न हम रहे दिल लगाने काबिल, ना दिल रहा गम उठाने काबिल, लगे उसकी यादों के जो ज़ख़्म दिल पर, न छोड़ा उसने मुस्कुराने के काबिल।

Pyar Bhari Shayari

2 Comments

  • कोई फूलों से प्यार करता है
    कोई कांटो से प्यार करता है,
    हम उनसे प्यार करते हैं,
    जो हमसे प्यार करता है!!
    एस.एस .राजपूत

Comments are closed.