Pyar Bhari Shayari

💖 Pyar Bhari Shayari 💖

 हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर,
तुझ पर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा,
ना रोते हम यूँ तेरे लिये,
अगर हमारी ज़िन्दगी में तेरे सिवा कोई ओर होता।

Pyar Bhari Shayari


कभी रो के मुस्कुराए, कभी मुस्कुरा के रोए,
जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए।

Pyar Bhari Shayari


🌹 Pyar Shayari 🌹

मोहब्बत उसको मिलती हे जिनका नसीब होता हे,
बहुत कम हांथो मे ये मोहब्बत की लकीर होती हे,
कभी कोई अपनी मोहब्बत से ना बिछड़े,
कसम से ऐसे हालत मे बहुत तक़लीफ़ होती हे।

Pyar Bhari Shayari


कितना दूर निकल गए रिश्ते निभाते निभाते,
खुद को खो दिया हमने अपनों को पाते पाते,
लोग कहते है दर्द है मेरे दिल में,
और हम थक गये मुस्कुराते मुस्कुराते।

Pyar Bhari Shayari


💖 Pyar Bhari Shayari 💖

तु ही मिल जाए मुझे बस इतना ही काफी है,
मेरी हर सांस ने बस ये ही दुआ मांगी है,
जाने क्यूँ दिल खिंचा चला जाता है तेरी तरफ,
क्या तूने भी मुझे पाने की दुआ मांगी है।

Pyar Bhari Shayari

2 Comments

  • कोई फूलों से प्यार करता है
    कोई कांटो से प्यार करता है,
    हम उनसे प्यार करते हैं,
    जो हमसे प्यार करता है!!
    एस.एस .राजपूत

Comments are closed.