Sad Shayari

Sad Shayari

इन आँखों में सूरत तेरी सुहानी है, मोम की तरह से पिघल रही मेरी जबानी है, जिस तरह से सितम हुए थे हम पर, मर जाना चाहिये था, पर जिन्दा है, ये बड़ी हैरानी है।

Sad Shayari


पत्थरों से प्यार किया क्योंकि नादान थे हम, गलती हुई क्योंकि इंसान थे हम, आज जिन्हें हमसे नजरे मिलाने में तकलीफ होती है, कल उसी इंसान की जान थे हम।

Sad Shayari


जरा सी बात पर न छोड़ अपनों का दामन, क्योंकि जिंदगी बीत जाती है अपनों को अपना बनाने में।

Sad Shayari


बिन मांगे ही मिल जाती है मोहब्बत किसी को, और कोई हजारो दुआओं के बाद भी खाली हाथ ही रह जाता है।

Sad Shayari


दिमाग पर जोर लगा कर गिनते हो गलतियां मेरी, कभी दिल पर हाथ लगा कर पूछना की कसूर किसका था।

Sad Shayari

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31Next page
Back to top button
Close