Sad Status

मेरी आंखों को देख कर एक शख्श बोला, की तेरी खामोशी बताती है, तुझे कभी हँसने का शौक था।


हम यही सोच कर उसकी हर बात को उसकी सच मानते रहे, की इतने खूबसूरत होठ झूठ कैसे बोलेंगे।


जाने बाले को रोक नही करते, क्योंकि जाने बाले जाने से पहले जा चुके होते हैं।


जिसे निभा न सकूं वो वादा में नही करता, बातें मैं अपनी औकात से ज़्यादा नही करता।


यूँ उम्र कटी दो अल्फ़ाज़ में, एक आस में, एक काश में।


Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22
Back to top button
Close