Tech News

Virtual काल्पनिक आधार आईडी क्या है 🤔

इसमें हम जानेंगे

  • काल्पनिक आधार आईडी क्या ?
  • सरकार छिपाना चाहती है आधार नंबर
  • 1 मार्च से होगा शुरू

काल्पनिक आधार आईडी  क्या ?

काल्पनिक आधार आईडी क्या है > आज हम बात करेंगे काल्पनिक आधार आईडी यानी (Virtual Adhar Id) के बारे में। आखिर क्या होता है यह काल्पनिक आधार कार्ड ID ? क्यों जरूरत पड़ गई भारत सरकार को इसे लाने की जबकि हमारे पास अपना 12 डिजिट का आधार कार्ड नंबर पहले से ही मौजूद है। क्या कोई रिस्क था हमें अपना ओरिजिनल 12 अंको का आधार कार्ड नंबर किसी के साथ शेयर करने में?

बहुत-सी ऐसी एजेंसिया कांस्टिट्यूशन और मीडिया यह दावा कर रही थी कि आधार कार्ड नंबर शेयर करना सुरक्षित नहीं है, क्योंकि आपके आधार कार्ड में पहले से बहुत सी सेवायें जुड़ी हुई हैं जैसे आपका बैंक अकाउंट नंबर जुड़ा हुआ है जिसको अनिवार्य कर दिया गया है। पैन कार्ड जुड़ा हुआ है, गैस अकाउंट जुड़ा हुआ है और आने वाले समय में और भी बहुत सी चीजें जुड़ेंगी आधार कार्ड से।
जिसकी वजह से बहुत सी मीडिया चैनल कह रह हैं कि अगर कोई आपका आधार कार्ड नंबर जान लेता है तो उससे लिंक आपका अकाउंट नंबर भी वो जान सकता है। या फिर और डिटेल जैसे आपका डेट ऑफ बर्थ या पता जान सकता है। इन्हीं सबके मध्य नज़र भारत सरकार ये कदम उठाने जा रही है।

सरकार छिपाना चाहती है आधार नंबर

भारत सरकार 12 डिजिट का आधार कार्ड नंबर छिपाना चाहती है। ताकि कोई जान न सके आपका ओरिजिनल आधार नम्बर और आपका सारा काम भी हो जाए। इसलिए काल्पनिक आधार आईडी (Virtual Adhar Id) जनरेट करने को कहा जा रहा है। जिससे होगा ये वह जो ID होगा काल्पनिक (वर्चुअल) उसे आपको कहीं भी देना हो, दुकान पर देंना हो, सिम लेना हो या फिर बैंक में अकाउंट खुलवाना हो या फिर और कोई काम वो इन सब मे काम आएगा।

इससे होगा ये की ओरिजिनल आधार कार्ड नंबर छुपा रहेगा उसे कोई नहीं जान पाएगा। उससे लिंक सारी जानकारी छुपी रहेंगी। वर्चुअल आधार आईडी से होगा ये कि जिसे आपका नाम, आपका फोटो या कोई और जानकारी चाहिए वो बस लिमिटेड जानकारी प्राप्त कर पायेगा और एक्स्ट्रा नहीं जान पाएगा। इसलिये Gamermet Of India काल्पनिक आधार कार्ड नंबर का प्रयोग कर रही है।
आपका ओरिजिनल आधार कार्ड नंबर तो वही रहेगा लेकिन वर्चुअल आधार ID आपको ही जनरेट करना होगा।

ये भी पढ़ें >  2018 में ये 5000 sites होंगे बंद ?

1 मार्च से होगा शुरू

यह 1 मार्च 2018 से आप जनरेट कर पाएँगे। ये आधार कार्ड की अपनी ऑफिशियल वेबसाइट UIDAI से कर पाएंगे। इसका प्रोसेस आने वाले समय मे बता दिया जाएगा। इसके अलावा आप UIDAI के APP से भी जनरेट कर सकते हैं। केवल इसे आप ही जनरेट कर सकते हैं। वो यूनिक होगा और आपकी मर्जी के बिना अगर कोई आपकी जानकारी चुरा भी लेता है तो आप इसे चेंज कर सकते हैं और जो पुराना वाला वर्चुअल id था वो रद हो जाएगा, नया id जनरेट कर सकते हैं। यह कई बार कर सकते हैं। इससे होगा ये की आपका आधार कार्ड सुरक्षित रहेगा और आपकी जानकारियां गुप्त रहेंगी। अभी Gamermet Of India ने इसका एनाउंसमेंट किया है, 1 मार्च 2018 से आप काल्पनिक आधार आईडी ( Virtual Adhar ID ) इस्तेमाल कर पाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
%d bloggers like this: