Dosti Shayari

जुबान पे उल्फत के अफसाने नहीं आते, जो बीत गए फिर से वो फसाने नहीं आते, यार ही होते हैं यारो के हमदर्द, कोई फ़रिश्ते यहाँ साथ निभाने नहीं आते।

Dosti shayari in hindi


न जाने क्यों हमें आंख भिगाना नहीं आता, न जाने क्यों हाल-ऐ-दिल समझाना नहीं आता, क्यों सारे दोस्त बिछड़ गए हमसे, शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता! 

Dosti shayari in hindi


💖 Dosti Shayari In Hindi 💖

हर पल हम आपके साथ हैं, तनहाइयों में होकर भी हम आपके पास हैं, आपका हो न हो पर हमें, आपकी कमी का हर पल अहसास है।

Dosti shayari in hindi


मुकाम मिलने से यारी भुलाई नहीं जाती, एक साथी मिलने से दोस्ती मिटाई नहीं जाती, दोस्तों की कमी हर पल रहती है, तनहाइयों से दोस्ती छुपाई नहीं जाती।

Dosti shayari in hindi


💦 हिंदी शायरी दोस्ती के लिये 💦

यारी किसी की जायदाद नही होती, ज़िंदगी किसी की मोहताज़ नही होती, हमारी सलतनत में देख कर क़दम रखना, हमारी दोस्ती में आने के बाद दोस्ती आज़ाद नही होती।

20 3

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21Next page

Related Articles

3 Comments

  1. ज़िन्दगी के सारे गम क्यों बाँट लेते हैं दोस्त
    क्यों ज़िन्दगी में साथ देते हैं दोस्त
    रिश्ता तो सिर्फ उनसे दिल का होता है जी
    फिर भी क्यों हमे अपना मान लेते हैं दोस्त
    Akhil sayer paharpurya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button