Sad Shayari

Sad Shayari

मोहब्बत का कानून अलग है, यहाँ की अदालत में हमेशा वफ़ादार को सज़ा मिलती है।


आजकल सफाईयां देना छोड़ दी है मैंने, हां मैं बहुत बुरी हूँ, यही सीधी सी बात है।


अब शिकवा करें भी तो करें किससे, क्योंकि ये दर्द भी मेरा, और दर्द देने बाला भी मेरा।


तेरा हर अंदाज़ अच्छा था, लेकिन नज़रंदाज़ करे के सिवा।


अब तेरा नाम ही काफी है, मेरा दिल दुखाने के लिए।

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31Next page
Back to top button
Close