Advertisement

2 Line Shayari

Advertisement

तारीफ खुद की करना फ़िज़ूल है, ख़ुशबू खुद बता देती है की कौन सा फूल है।


न रुकी वक़्त की गर्दिश न जमाना बदला, पेड़ सूखा तो परिंदों ने ठिकाना बदला।


दुनिया बाले कहते हैं तू हर किसी का दिल जीत लेता है, पर उन्हें क्या पता मैं अपना भी हार बैठा हूँ।

Advertisement

तुम्हारी यादें हैं जब तक, मेरी हर साँस जिन्दा है तब तक।


तेरे दर्द को सहना चाहता हूँ, मैं बस तुझे ख़ुशी देना चाहता हूँ।


किसी की आदत बन जाओ, मोहब्बत खुद बन जाओगे।

Advertisement
Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11

Download HQ Images >

Related Articles

2 Comments

  1. “Dil sa Dil kave juda nahe hota, uhe koye kisepa fida nahe hota,, pyar sa bara mata Peta ka rishta hote ha,, kuke o kave bawafa nahe hota,,,,,

  2. The Shayari in this article is too amazing, and it really matches my current mood and situations.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button