2 Line Shayari

तारीफ खुद की करना फ़िज़ूल है, ख़ुशबू खुद बता देती है की कौन सा फूल है।


न रुकी वक़्त की गर्दिश न जमाना बदला, पेड़ सूखा तो परिंदों ने ठिकाना बदला।


दुनिया बाले कहते हैं तू हर किसी का दिल जीत लेता है, पर उन्हें क्या पता मैं अपना भी हार बैठा हूँ।


तुम्हारी यादें हैं जब तक, मेरी हर साँस जिन्दा है तब तक।


तेरे दर्द को सहना चाहता हूँ, मैं बस तुझे ख़ुशी देना चाहता हूँ।


किसी की आदत बन जाओ, मोहब्बत खुद बन जाओगे।

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11

Download HQ Images >

Back to top button
Close