Love Shayari

Love Shayari

दिल की हसरत जुवां पर आने लगी,
तूने देखो तो जिंदगी मुस्कुराने लगी,
ये इश्क की इम्तेहा थी
या थी दीवानगी मेरी,
हर सूरत में सूरत तेरी नज़र आने लगी।


रात का अँधेरा कुछ कहना चाहता है,
क्यों चाँद चाँदनी के साथ रहना चाहता है,
हम तो तन्हा ही बहुत खुश थे मगर,
क्यों ये दिल अब किसी
के साथ रहना चाहता है।


मेरे बजूद में काश तू उतर जाए,
मैं देखूं आईना और तू ही तू नज़र आये,
तू हो सामने और ये वक्त ठहर जाये,
और ये ज़िन्दगी तुझे देखते हुए ही गुजर जाये।


हाथ में नमक लिए ऐ-सितमगर
सोचते क्या हो,
हजारों जख्म है दिल पर
मेरे जहाँ चाहो वहाँ छिड़क दो।


अगर आपको कोई रोकता है,
टोकता है, आपका वक्त मांगता है,
तो आप बहुत किस्मत बाले हैं,
क्योंकि Care करने बाले
किस्मत बालो को ही मिलते हैं,
उनकी कदर कीजिये क्योंकि
ये एक बार जो गम हो
जाये तो जिंदगी भर नही मिलते।


Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49Next page

Related Articles

Back to top button
Close