WhatsApp Shayari

💗 WhatsApp Shayari 💗

आप की यही बात हमको बेकरार करती है, आप मन की बात दिल मे छिपाके क्यो रखते हो. मूज़े पता हे की आपको हमसे ही प्यार है तो, आप हमसे प्यार का इज़हार क्यो नही करते हो।

WhatsApp Shayari


आँखो की गहराई को समज़ नही सकते, होंटो से कुछ कह नही सकते. कैसे बया करे हम आपको यह दिल का हाल की, तुम्ही हो जिसके बागेर हम रह नही सकते।

WhatsApp Shayari


हम ने जब कभी भी खुशी महसूस की, हर कदम पे आप की कमी महसूस की. दूर रह कर भी आप की चाहत कम ना हुई, यह बात हम ने दिल से महसूस की।

WhatsApp Shayari


एक शमा अंधेरे में जलाए रखना सुबह होने को है माहौल बनाए रखना कौन जाने वो किस गली से गुज़रें हर गली को फूलों से सजाए रखना।

WhatsApp Shayari


💦 WhatsApp Shayari In Hindi 💦

होते अगर पास तो कोई शरारत करते, लेकर तुम्हे वाहो में मोहब्बत करते. देखते तेरी आँखो में नींद का खुमार, अपनी खोई हुई नींदो की शिकायत करते।

WhatsApp Shayari

Previous page 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10Next page

Related Articles

9 Comments

  1. याद है मुझे मेरी हर एक गलती,
    एक तो मोहब्बत कर ली,
    दुसरी तुमसे कर ली,
    तिसरी बेपनाह कर ली।

  2. Ek dam best shayri

    Meri shayri achi lagi to reply kariyo

    जिंदगी रही तो फिर मिलेंगे मौत का सीजन चल रहा है वादा नहीं

  3. Bahut door se hun
    Thoda pani to pila do
    Edhar udhar kya dekh rahi ho
    Thoda najar to mila lo…

  4. कहाँ मिलता है कोई समझने_ वाला
    जो भी मिलता है, बस_समझा के चला जाता है
    Nice shayari

  5. 💗~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~💗
    #समुन्दर_को_ढूँढती_है_नदी_जाने_क्यों ,
    #पानी_को_पानी_की_यह_कैसी_प्यास_है !
    💗~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~💗

  6. प्यार 💖हम उनको करते हैं,

    जो हमारी फ़िकर 👩करते हैं।

    कदर 😎हम उनकी करते हैं,

    जो हमारी इज्ज़त👮‍♀️ करतें हैं।

    जीते 💋हैं हम उनके लिए ,

    जो हम😘 पर मरते हैं।

  7. तुम याद न कर सके हम 😍भुला न सके।

    नाम तेरा जो लिखा दिल❤ पे मिटा ना सके।

    जुबान🤗 रखी बंद कहीं नाम न ले दे तेरा ।

    इसीलिए भरी महफ़िल👨‍👩‍👧‍👦👨‍👩‍👧‍👦 में मुस्कुरा 😥न सके।

  8. Kya Baat hai bhai. bahot pyari pyari shayari collection hai. dil khush ho gya padh kar
    thanks for sharing
    azad

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button